बुधवार, 7 नवंबर 2018

Diwali Puja Time: जानें, क्या है दिवाली गणेश-लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Diwali Puja Time: जानें, क्या है  दिवाली गणेश-लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि
Diwali Puja Time: जानें, क्या है  दिवाली गणेश-लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि ,सामग्री


दिवाली के पावन पर्व में लक्ष्मी गणेश का पूजन किया जाता है।



Diwali puja time: इस मुहूर्त में ऐसे करें दीवाली पूजन, घर आएंगी लक्ष्मी, होगी धनवर्षा



आज है कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या।


दिवाली के पावन पर्व में लक्ष्मी गणेश का पूजन किया जाता है। शाम के समय लक्ष्मी पूजन के लिए विभिन्न पूजा सामग्री की जरूरत होगी यहा हम ज्योतिष के अनुसार बता रहे हैं विशेष पूजन सामग्री के बारे में। युवा ज्योतिष व अंक नक्षत्रवेत्ता राजेश नायक बताते हैं कि दीपावली-पूजन में उपयोग की जाने वाली वस्तुएं भक्त को लक्ष्मी की स्थाई कृपा दिलवाती हैं।

मंगलवार, 6 नवंबर 2018

Happy Diwali 2018 Wishes Images, Wallpapers, Quotes, SMS, Messages, Status, Photos, Pics, Pictures and Greetings

Diwali 2018: WhatsApp/SMS messages for your family and friends

, SMS और whatsapp status,
chhoti diwali 2018

Happy Diwali 2018 Wishes Images, Wallpapers, Quotes, SMS, Messages, Status, Photos, Pics, Pictures and Greetings


दिवाली



Diwali 2018: WhatsApp/SMS messages for your family and friends


Happy Diwali 2018: Wishes, Quotes, Messages and Images for WhatsApp or Facebook {Deepavali}






Happy Diwali 2018 Wishes Images, Wallpapers, Quotes, SMS, Messages, Status, Photos, Pics, Pictures and Greetings








Happy diwali wishing


Diwali ke दिन सूर्योदय से पहले उठाना चाहिए

 है।



diwali wishes quotes,Diwali Wishes




             इस दीपक का प्रकाश हर पल आपके जीवन में
नई रोशनी लाए और अंधकार दूर करे
           यही है आज शुभकामना हमारी  छोटी दीपावली पर।।


                 यहां पूजा से भरी थाली है
   हर तरफ खुशहाली है
                    आईए मिलके मनाएं ये खास दिन
  क्योंकि आज छोटी दीपावली है।।




इन दीयों के संग मौजूद हों खुशियों के रंग
सब और हो खुशिया जीवन में हो उमंग



छोटी दीपावली की मंगल कामनाएं।।   





दिवाली




Happy Diwali 2018: Wishes, Quotes, Messages and Images for WhatsApp or Facebook {Deepavali}



आखिर क्यों मनाई जाती है दीपावली



भारत एक ऐसा देश है जिसको त्योहारों का देश कहा जाता है। हिंदू मान्यता के अनुसार भारत में कुल 33 करोड़ देवी-देवता हैं, और इसी कारण हमेशा किसी ना किसी महीने या दिन  त्यौहार का माहौल तो बना ही रहता है। इन्हीं पर्वों में से एक खास पर्व है दीपावली और इसे हिन्दुओ का मुख्य त्यौहार माना जाता है जो दशहरा के 20 दिन बाद आता है।


दीपावली का अर्थ


दिवाली एक धार्मिक त्योहार है,जो अंधकार पर प्रकाश की विजय या फिर पाप या अधर्म पर धर्म की विजय के रूप में मनाया जाता है।

 इस दिन सभी लोग बहुत सारे दीपक जला कर रोशनी  फैलाते हैं  और खुशिया मनाते है, कि उन्होंने अंधकार पर अपनी प्रकाश का विजय प्राप्त कर ली है ।

 वैसे तो मुख्यत यह त्यौहार भारत में मनाया जाता है लेकिन भारत के बाहर कुछ स्थानों पर यह त्यौहार बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है 






 इस त्यौहार को मुख्यतः हिंदू और जैन धर्म के लोग मनाते हैं । दीपावली के दिन बहुत से देशों जैसे भारत,  नेपाल , श्रीलंका  और सिंगापुर आदि देशों में राष्ट्रीय अवकाश भी रहता है ।


दिवाली कैसे मनाई जाती है,देव दीपावली क्यों मनाई जाती है



आपको बता दें कि दीपावली जिस भी तारीख को होती है वह हिंदू चंद्र सौर कैलेंडर के अनुसार निर्धारित की जाती है और इसी दिन बड़े हर्षोल्लास के साथ दीवाली के त्यौहार को मनाया जाता है । 

यह अलग अलग तरह से मनाया जाता है यानी कि इनको मनाने की विधि अलग-अलग होती है। 

 अलग-अलग परिवारों में इसे अलग अलग तरीके से मनाया जाता है लेकिन यह त्यौहार लगभग एक समान ही सब मनाते है ।


दीवाली का महत्व


Happy Diwali 2018 Wishes Images, Wallpapers, Quotes, SMS, Messages, Status, Photos, Pics, Pictures and Greetings





तो दोस्तों अगर हमारे द्वारा दी गयी जानकरी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे और भी लोगो तक शेयर करे जिससे वे भी मिलावटी सोने की खरीदारी से बच सके तो कृपया शेयर जरूर करे और आप इस तरह के और भी जानकारिया पाना चाहते है तो हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब भी कर सकते है  जिससे इस तरह की जानकारी औ तक पहुचती रहे।और आप हमारे facebook पेज को भी like कर सकते है।

faizabad ka nam badla, योगी आदित्य नाथ ने दिवाली के मौके पर फैज़ाबाद का नाम अयोध्या रखा गया।

faizabad ka nam badla, योगी आदित्य नाथ ने दिवाली के मौके पर फैज़ाबाद का नाम अयोध्या रखा गया। up faizabad ka nam badla,आज से यूपी के फैज़ाबाद को अयोध्या कहा जायेगा।


अयोध्या का नाम बदला



योगी आदित्य नाथ ने दिवाली के मौके पर एक बड़ा एलान किया आज से फैज़ाबाद को अयोध्या के नाम से जाना जायेगा।

नमस्कार दोस्तों मैं अनुपम सिंह और आपका आजके इस आर्टिकल में स्वागत है।



फैज़ाबाद का नाम बदल कर अयोध्या रखा गया।

इलाहाबाद का नाम बदल कर प्रयाग राज रखने के 21 दिन बाद फैज़ाबाद का नाम भी बदल कर अयोध्या रखा गया। और साथ में  एक मेडिकल कॉलेज का निर्माण किया जायेगा। जिसका नाम दशरथ रखा जायेगा और  एयरपोर्ट का निर्माण किया जायेगा और उसका नाम श्री राम चंद्र रखा जायेगा ।

योगी आदित्य नाथ ने दिवाली के मौके पर अयोध्या वासियो को ये तोहफा दिया,

योगी ने फैजाबाद का नाम बदला, अयोध्या कहलाएगा जिला



कब बदला नाम


अकबरनामा और आईने अकबरी व अन्य मुगलकालीन ऐतिहासिक पुस्तकों से ज्ञात होता है कि अकबर ने सन 1575 के आसपास प्रयागराज में किले की नींव रखी।

 उसने यहां नया नगर बसाया जिसका नाम उसने इलाहाबाद रखा। उसके पहले तक इसे प्रयागराज के ही नाम से जाना जाता था।






किसी शहर के स्थानीय लोग या जनप्रतिनिधि नाम बदलने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजे 

राज्य मंत्रिमंडल प्रस्ताव पर विचार करती है और मंजूरी देने के बाद राज्यपाल की सहमति को भेजती है।

राज्यपाल प्रस्ताव पर अनुंशसा देने के साथ अंतिम मंजूरी के लिए केंद्रीय गृहमंत्रालय को भेजता है ।

गृहमंत्रालय से हरी झंडी मिलने के बाद राज्य सरकार नाम बदलने की अधिसूचना जारी करती है।

सोमवार, 5 नवंबर 2018

Happy Diwali 2018 Wishes Images, Wallpapers, Quotes, SMS, Messages, Status, Photos, Pics, Pictures and Greetings

Diwali 2018: WhatsApp/SMS messages for your family and friends

, SMS और whatsapp status,
chhoti diwali 2018

Happy Diwali 2018 Wishes Images, Wallpapers, Quotes, SMS, Messages, Status, Photos, Pics, Pictures and Greetings


दिवाली



Diwali 2018: WhatsApp/SMS messages for your family and friends


छोटी दिवाली 6 oct 2018 मंगलवार को है। इसे नरक चतुर्दशी और रूप चौदस भी कहते  है। Message, SMS and whatsapp status





Happy Diwali 2018 Wishes Images, Wallpapers, Quotes, SMS, Messages, Status, Photos, Pics, Pictures and Greetings

 Diwali 2018: Significance and History of the Naraka Chaturdashi



इस दिन हनुमान जी की पूजा-अर्चना भी की जाती है। धनतेरस से लेकर बड़ी दिवाली तक लक्ष्मी पूजन का बड़ा ही महत्व माना जाता है और  छोटी दिवाली के दिन कृष्ण भगवान, यमराज और हनुमान जी की पूजा को बहुत अधिक महत्व दिया जाता है। 



Happy Choti Deepavali


और लोग करते है इस दिन सूर्योदय से पहले उठाना चाहिए और अपने पूरे शरीर पर तिल का तेल लगाएं। इसके बाद स्नान करें। 

छोटी दीपावली के इस मौके पर हम आपको कुछ खास Message, SMS and whatsapp status on Choti Diwali बताने वाले है।



रूप चौदस क्यों?



  • पौराणिक महत्व 

  •  ऋतु बदलती है और शरीर को नई ऋतु के लिए तैयार करने के मकसद से दीपोत्सव का यह दिन तन-मन को सजाने-संवारने के लिए नियत किया गया।

  •  एक दिन बाद लक्ष्मी के स्वागत के लिए ही यह जरूरी है क्योंकि महालक्ष्मी साफ-सुथरे घर और मन में ही प्रवेश करती हैं।

इन्हें आप अपनों को शेयर कर सकते है।

कामना है अच्छे की आज बुरे पर विजय हो
             कामना है अच्छे की आज बुरे पर विजय हो
प्रार्थना यही है कि हर जगह बस आप ही की विजय हो
             आपके पूरे परिवार को छोटी दिवाली की ढेरों शुभकामनाये।।


             इस दीपक का प्रकाश हर पल आपके जीवन में
नई रोशनी लाए और अंधकार दूर करे
           यही है आज शुभकामना हमारी  छोटी दीपावली पर।।


                 यहां पूजा से भरी थाली है
   हर तरफ खुशहाली है
                    आईए मिलके मनाएं ये खास दिन
  क्योंकि आज छोटी दीपावली है।।




इन दीयों के संग मौजूद हों खुशियों के रंग
सब और हो खुशिया जीवन में हो उमंग


छोटी दीपावली की मंगल कामनाएं।।   




दिवाली


Choti Diwali 2018: छोटी दिवाली तिथि, शुभ मुहूर्त और ऐसे करें नरक चतुर्दशी पर यमराज की पूजा



आखिर क्यों मनाई जाती है दीपावली

भारत एक ऐसा देश है जिसको त्योहारों का देश कहा जाता है। हिंदू मान्यता के अनुसार भारत में कुल 33 करोड़ देवी-देवता हैं, और इसी कारण हमेशा किसी ना किसी महीने या दिन  त्यौहार का माहौल तो बना ही रहता है। इन्हीं पर्वों में से एक खास पर्व है दीपावली और इसे हिन्दुओ का मुख्य त्यौहार माना जाता है जो दशहरा के 20 दिन बाद आता है।


दीपावली का अर्थ


दिवाली एक धार्मिक त्योहार है,जो अंधकार पर प्रकाश की विजय या फिर पाप या अधर्म पर धर्म की विजय के रूप में मनाया जाता है।

 इस दिन सभी लोग बहुत सारे दीपक जला कर रोशनी  फैलाते हैं  और खुशिया मनाते है, कि उन्होंने अंधकार पर अपनी प्रकाश का विजय प्राप्त कर ली है ।

 वैसे तो मुख्यत यह त्यौहार भारत में मनाया जाता है लेकिन भारत के बाहर कुछ स्थानों पर यह त्यौहार बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है 






 इस त्यौहार को मुख्यतः हिंदू और जैन धर्म के लोग मनाते हैं । दीपावली के दिन बहुत से देशों जैसे भारत,  नेपाल , श्रीलंका  और सिंगापुर आदि देशों में राष्ट्रीय अवकाश भी रहता है ।


दिवाली कैसे मनाई जाती है,देव दीपावली क्यों मनाई जाती है



आपको बता दें कि दीपावली जिस भी तारीख को होती है वह हिंदू चंद्र सौर कैलेंडर के अनुसार निर्धारित की जाती है और इसी दिन बड़े हर्षोल्लास के साथ दीवाली के त्यौहार को मनाया जाता है । 

यह अलग अलग तरह से मनाया जाता है यानी कि इनको मनाने की विधि अलग-अलग होती है। 

 अलग-अलग परिवारों में इसे अलग अलग तरीके से मनाया जाता है लेकिन यह त्यौहार लगभग एक समान ही सब मनाते है ।

दीवाली का महत्व
Happy Diwali 2018 Wishes Images, Wallpapers, Quotes, SMS, Messages, Status, Photos, Pics, Pictures and Greetings




तो दोस्तों अगर हमारे द्वारा दी गयी जानकरी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे और भी लोगो तक शेयर करे जिससे वे भी मिलावटी सोने की खरीदारी से बच सके तो कृपया शेयर जरूर करे और आप इस तरह के और भी जानकारिया पाना चाहते है तो हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब भी कर सकते है  जिससे इस तरह की जानकारी औ तक पहुचती रहे।और आप हमारे facebook पेज को भी like कर सकते है।

रविवार, 4 नवंबर 2018

Dhanteras 2018: धनतेरस पर खरीदने जा रहे हैं सोना तो इस तरह से पहचान करें असली-नकली आभूषण की,

Dhanteras 2018: धनतेरस पर खरीदने जा रहे हैं सोना तो इस तरह से पहचान करें असली-नकली आभूषण की,सोने की पहचान घर पर कैसे करे




Asli sone ki pahchan,asli sone ko kaise pahchane,kaise asli sone ko pahchane,असली सोने को कैसे पहचाने
Asli sone ki pahchan

शुद्ध सोने की पहचान ,इन तीन आसान टिप्स से पहचाने असली सोने को अगर आप जा रहे है बाजार सोने से बने आभूषण खरीदने तो मिलावटी सोने के खरीदारी से बचने जे लिए ये टिप्स जरूर जाने।,शुद्ध सोने की पहचान




नमस्कार दोस्तों मैं अनुपम सिंह और आपका आजके इस article में स्वागत है।मैं आज इस आर्टिकल में मिलावटी सोने की खरीदारी यानि मिलावटी सोने को कैसे पहचाने बताने वाला हूँ

असली सोने का पहचान कैसे करे :asli sone ki pehchan,सोना असली है या नकली



बाजार में आप सोना खरीदने जा तो रहे हैं लेकिन सोने की शुद्धता पर दुकानदार के कहने पर ही भरोसा करना पड़ता है। दुकानदार जो कहता है मेरा मतलब की जितने कैरेट का शुद्ध बताता है आप उतना मन लेते है या मानना ग्राहक की मजबूरी होती है।


शुद्ध सोने की पहचान


 लेकिन जब आप लोग उसी खरीदे गए सोने को कुछ दिन तक प्रयोग करने के बाद किसी दूसरे दुकान पर वापस करने जाते है या बेचने या फिर गिरवी रखने जाते हैं तो आपको बेचते या गिरवी रखते समय पता चलता है कि आपके द्वारा खरीदा हुआ सोना कितना शुद्ध था और उसकी शुद्ध कीमत क्या थी।

हॉलमार्क गोल्ड की पहचान


 यहां पर हम आपको सोने की शुद्धता परखने या जांचने के कुछ तरीके बताने वाले है। इससे आपको सोना बेचने वाला स्वर्णकार आपको कितना मिलावटी सोना दे रहा है आपको पता चल जायेगा या फिर नहीं दे सकेगेा। निम्न तरीको के द्वारा आप खुद सोने में की हुई मिलावट के बारे में जान सकेंगे।

 दीवाली और धनतेरस पर सोना खरीदना शुभ माना जाता है लेकिन कभी-कभी इसमें मिलावट की शिकायत भी मिल जाती है। इस लिए सोने की शुद्धता का पता लगाने के तरीके मालूम होन जरूरी है।




इस तरह पता करे सोना शुद्ध या मिलावटी है, या फिर नहीं,असली सोने की पहचान कैसे की जाती है


सरकारी जाँच एजेंसी के अनुसार 16 carat gold शुद्घ होता है लेकिन इतना शुद्ध सोना बाजार में मिलता नहीं है कुछ न कुछ मिलावट रहती ही है।

शुद्घ सोने की पहचान करने के लिए मैं आपको कुछ टिप्स बता रहा हूँ जिससे आप खुद सोने की पहचान कर पाएंगे। जिसके जरिये आप असली या नकली सोने की पहचान घर बैठे कर सकते हैं, सोना कभी भी पानी पर नहीं तैरता है, बल्कि डूब जाता है। अगर आपको असली सोने की पहचान करनी हो तो एक कटोरी पानी में सोने से बने किसी भी आभूषण को डालें।

 अगर सोने से बना आभूषण पानी में पूरी तरह से डूब जाता है, तो सोना यानि आभूषण शुद्ध सोने के होंगे। अगर पानी की सतह पर तैरने लगता है तो नकली है सोना।

सबसे बेहतरीन और कारगर तरीका है सोने का एसिड टेस्ट। अगर आप खुद पता लगाना चाहते है असली सोना है या नही  तो किसी भी सुई जैसी नुकीली वस्तु से सोने पर हल्का स्क्रैच करें, और उसके बाद उसपर नाइट्रिक एसिड की एक बूंद डालें। 

अगर सोना नकली होगा तो वह तुरंत ही हरे रेग का हो जायेगा, और अगर सोना असली है तो इसके रंग में कोई भी परिवर्तन नहीं होगा।



सोने की पहचान घर पर कैसे करे




चुम्बक द्वारा भी किया जा सकता हैं मिलावटी सोने की पहचान


अगर आपके पास कोई चुंबक है तो यह टेस्ट और भी आसान होगा। असली सोना कभी भी चुंबक पर चिपकता नहीं है क्योकि चुम्बक केवल लोहे या लोहे से बनी वस्तु को ही आकर्षित करता है, और अगर सोने में थोड़ा-सा भी चुंबक के प्रति आकर्षित हो तो समझ जाइये कि साइन में मिलावट है और मिलावटी सोने को खरीदने से आप बच सकते है।

Dhanteras 2018: धनतेरस पर खरीदने जा रहे हैं सोना तो इस तरह से पहचान करें असली-नकली आभूषण की,



तो दोस्तों अगर हमारे द्वारा दी गयी जानकरी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे और भी लोगो तक शेयर करे जिससे वे भी मिलावटी सोने की खरीदारी से बच सके तो कृपया शेयर जरूर करे और आप इस तरह के और भी जानकारिया पाना चाहते है तो हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब भी कर सकते है  जिससे इस तरह की जानकारी औ तक पहुचती रहे।और आप हमारे facebook पेज को भी like कर सकते है।

शनिवार, 3 नवंबर 2018

top 8 professional free responsive blogger template for quickly AdSense approval

Best responsive free blogger template,quickly Adsense Approval,garanti ke sath milega adsense ka approval,free responsive blogger template, SEO friendly,TOP BEST BLOGGER TEMPLATE TO GET ADSENSE APPROVAL


top 8 professional free responsive blogger template for quickly AdSense approval
Adsense


top 8 professional free responsive blogger template for quickly AdSense approval


Dosto website banane ke bad sabase badi problem ati hai adsense ka approval lene me to isi liye mai apko 8 ase top free responsive blogger template batane vala jinhe agar ap apne blog/website me use karenge to mai garanti ke sath kahta hu ki apke blog/website par adsense ka quickly approval milega.

Namaskar dosto mai ANUPAM SINGH or apaka ajake is article me svagat hai mai apko top 8 free or responsive blogger template apke liye lekar aya hu .



TOP BEST BLOGGER TEMPLATE TO GET ADSENSE APPROVAL 


Dosto jitane bhi niche maine temlatem diya hu usme se kuchh news blogging ke liye to kuchh tech blogging, cooking blogging, fashion blogging etc .me ap use kar sakte hai or mai is bat ki garanti deta hu ki apako adsense approval bahut jald hi milega.


Bas apko in templates ko thoda sa customise karna hoga jisase ye or simple and unique or behatar dikhe jisase adsense ka approval milane ke chances badh jate hai.

Ye templates SEO friendly,responsive, AdSense optimised, premium looking, professional,SEO optimised hai ,agar ap in free responsive blogger templates ka use karenge to adsense ka approval 10 din ke andar mil jayega.



TOP 10 SEO Optimized & Adsense Friendly Responsive Blogger Templates


#1 Palki 2 responsive blogger template

Dosto jis template use mai kar rha apne blog/website me palki-2 template hai jis par hame adsense ka approval mila hai . Adsense ka approval milane se pahle maine 2 or templates use kiya tha jis par hame adsense ka approval nhi mila lekin is template ka use karte hi hame quickly approval mil gya only 5 days me to agar ap bhi pana chahte hai jald se jald adsense approval to is theme ka use ap  kar sakte hai.


top 8 professional free responsive blogger template for quickly AdSense approval
Palki-2

Palki-2 ek free or responsive template hai jiska background white colour Hai jisase adsense ka approval turant hi milega kyoki dosto google ko white colour bahut pasand hai.isme apko right side Upar corner me apko social media follow link lagane ka options mil jata hai. Or  left side me pages lagane ke options mil jate hai or sath ek header adsense ad lagane ka bhi option milta hai.

Seo friendly responsive blogger template hai iska use ap tech blogging,news blogging etc. Me use kar sakte hai

Niche footer me author page lagane ka option or emails subscription mil jata hai to or ap mera blog to dekh hi rahe honge .

Ye template seo friendly, afseads friendly,mobile friendly , responsive blogger template hai sabhi templates isi tarah hai.

#2 Maggner responsive blogger template

Magner bhi ek simple or best responsive blogger template hai iska bhi agar ap use karte hhi apne blog /website me to adsense ka approval asani se mil jayega,
top 8 professional free responsive blogger template for quickly AdSense approval
Maggner

Ye palkip2 bas thoda sa alag hai isme apko upar yani header me social media follow link lagane ka option nhi milta or na hi pages lagane ka ha lekin header ad lagane ka option milata hai .

Iska bhi background white colour hi hai,or ye bhi best seo friendly blogger template hai. Ise bhi ap news,tech,technology etc. Blogging me use kar sakte hai.

#3Magone responsive blogger template


Ye bhi best responsive blogger template hai iska bhi agar ap use karte hai to jaldi adsense ka approval mil jayega blog/website par ye bhi lagabhag dikhane me palki 2 ki tarah hi dikhata hai.
Iska bhi white background hai bas thoda se ye antar hai ki isme colour change hai or iska look thoda alag hai .
top 8 professional free responsive blogger template for quickly AdSense approval
Magone

Iska use ap khas taur pe news, cooking, fashion ke liye kar sakte hai.


#4Fastest responsive blogger template


Fastest blogger template ye bhi upar vale sabhi templates ki tarah lagabhag dikhata hai.
Ye bhi free mobile friendly ya responsive blogger template hai iska bhi ap use karke adsense ka approval le sakte hai.
top 8 professional free responsive blogger template for quickly AdSense approval
Fastest

Theme ka use agar ap tech blogging ke liye karenge to lagega tech/technology blogging ke liye ye kafi achchha template hai.


#5EasyMag responsive blogger template


Easy mag ek behatarin news or cooking, fashion, travelling blogging ke liye template hai jo ki bahut hi dikhane me unique and simple lagata hai.

top 8 professional free responsive blogger template for quickly AdSense approval
Easymag


#6Techwise responsive blogger template


Dikhane me bahut achchha lagta hai or iska bhi simple look hai to ye bhi ap use karke adsense approval le sakte hai isaka bhi background white colour hai.
top 8 professional free responsive blogger template for quickly AdSense approval
Add caption

Baki sab chije yani header footer lagabhag same hi hai.

#7Classica responsive blogger template


Iske header ka look bahut hi achchha hai fashion design, cooking blogging ke liye bahut achchha template hai.


#8superSeo responsive blogger template


Ye bhi ek simple or mobile friendly Seo optimized, AdSense optimised template hai iska bhi ap apne blog ya website me adsense ka approval le sakte hai or jaldi mil bhi jayega. To kafi achchha template hai .
top 8 professional free responsive blogger template for quickly AdSense approval
Super seo

top 8 professional free responsive blogger template for quickly AdSense approval


To dosto jitane bhi maine apko adsense approval ke liye templates bataya hu sab bahut hi achchhe or adsense friendly, SeoSEO friendly,SEO Optimized hai inka use karke ap quickly approval le sakte hai.

 To dosto agar ye article apko halp full laga ho to please ise or bhi logo tak share kariye jinhe bhi iski jarurat ho or agar ap adsense ya blogging se sambandhit janakariya pana chahte hai to ap hamare blog ko subscribe bhi kar sakte hai subscribe karne ke liye niche jaye or dosti ap hamare facebook page ko bhi like kar sakte hai.

गुरुवार, 1 नवंबर 2018

दिवाली 2018 -दिवाली क्यों मनाई जाती है,दीवाली कैसे, क्यों और कब मनाई जाती,Diwali-kyu-Manaya-jata-hai

दिवाली 2018 -दिवाली क्यों मनाई जाती है,दीवाली कैसे, क्यों और कब मनाई जाती है।Diwali-kyu-Manaya-jata-hai


दिवाली 2018 -दिवाली क्यों मनाई जाती है,दीवाली कैसे, क्यों और कब मनाई जाती है।Diwali-kyu-Manaya-jata-hai
Divali


दिवाली


आखिर क्यों मनाई जाती है दीपावली? 



भारत एक ऐसा देश है जिसको त्योहारों का देश कहा जाता है। हिंदू मान्यता के अनुसार भारत में कुल 33 करोड़ देवी-देवता हैं, और इसी कारण हमेशा किसी ना किसी महीने या दिन  त्यौहार का माहौल तो बना ही रहता है। इन्हीं पर्वों में से एक खास पर्व है दीपावली और इसे हिन्दुओ का मुख्य त्यौहार माना जाता है जो दशहरा के 20 दिन बाद आता है।


नमस्कार दोस्तों मैं अनुपम सिंह और आपका आज के इस आर्टिकल में स्वागत है।आज मैं इस आर्टिकल में दीवाली से सम्बंधित कुछ बाते बताने वाला हूँ।अगर आपको यह article पसंद आये तो कृपया और भी लोगो तक शेयर करे।


दीपावली का अर्थ



दिवाली एक धार्मिक त्योहार है,जो अंधकार पर प्रकाश की विजय या फिर पाप या अधर्म पर धर्म की विजय के रूप में मनाया जाता है। इस दिन सभी लोग बहुत सारे दीपक जला कर रोशनी  फैलाते हैं  और खुशिया मनाते है, कि उन्होंने अंधकार पर अपनी प्रकाश का विजय प्राप्त कर ली है । वैसे तो मुख्यत यह त्यौहार भारत में मनाया जाता है लेकिन भारत के बाहर कुछ स्थानों पर यह त्यौहार बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है 
 इस त्यौहार को मुख्यतः हिंदू और जैन धर्म के लोग मनाते हैं । दीपावली के दिन बहुत से देशों जैसे भारत,  नेपाल , श्रीलंका  और सिंगापुर आदि देशों में राष्ट्रीय अवकाश भी रहता है ।


दिवाली कैसे मनाई जाती है,देव दीपावली क्यों मनाई जाती है




आपको बता दें कि दीपावली जिस भी date को होती है वह हिंदू चंद्र सौर कैलेंडर के अनुसार निर्धारित की जाती है और इसी दिन बड़े हर्षोल्लास के साथ दीवाली के त्यौहार को मनाया जाता है । यह अलग-अलग तरह से मनाया जाता है यानी कि इनको मनाने की विधि अलग-अलग होती है।  अलग अलग परिवारों में इसे अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है लेकिन यह त्यौहार लगभग एक समान ही सब मनाते है ।


दीवाली का महत्व



दिवाली 2018 -दिवाली क्यों मनाई जाती है,दीवाली कैसे, क्यों और कब मनाई जाती है।

दीपावली एक ऐसा हिंदू त्यौहार है जो हर हिंदू धर्म के परिवार बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाते है । दीवाली वैसे तो सिर्फ पांच दिनों का त्योहार है जैसा कि आपने पहले ही  पढ लिया होगा कुछ जगहों जैसे महाराष्ट्र में 6 दिनों तक मनाया जाता है और इन 5 दिनों तक हिंदू लोग दीपावली बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं, लोग मिठाइयां, कपड़े,बर्तन,electric चीजे खरीदते हैं, घरों की सफाई करते हैं ,और नए काम की शुरुवात करते है, घरों में दीपक जलाते हैं।


 दीवाली के दिन मां लक्ष्मी-गणेश और कुबेर महाराज की पूजा करते है । इस दिन का हिन्दू धर्म में बहुत बड़ा महत्व है, ऐसा माना जाता है कि इन दिनों में घरों परिवारों में ढेरो सुख समृद्धि शांति सब कुछ आता है  । 


हिंदू लोग इस त्यौहार का बेसब्री से इंतजार करते हैं और जब यह त्यौहार आता है तब लोग कुछ ना कुछ नए काम की शुरुआत करते हैं, क्योकि हिन्दू धर्म में यह मन जाता हैं कि अगर इस त्यौहार के दिन नए अपने काम की शुरुआत की जाए तो वह काम बहुत आगे बढ़ता और सफल होता है और उन्हें बहुत तरक्की होती है,और फायदा होता है ।


अब चलिए हम आपको बताते है  कि दीवाली की पूजा यानी लक्ष्मी-गणेश पूजा कब की जाएगी और गणेश जी की आरती और लक्ष्मी जी की आरती कब की जाएगी 2018 दीपावली में ।

 दिवाली 2018 में कब मनाई जाएगी किस तारीख को कौन सा दिन होगा सब कुछ हम आपको  बताने वाले है।

दीपावली  बुधवार 7 नवंबर 2018

धनतेरस सोमवार 5 नवंबर 2018

नरक चतुर्थी या छोटी दीपावली मंगलवार 6 नवंबर 2018

 दीपावली बुधवार 7 नवंबर 2018

बाली प्रतिस्पर्धा मतलब गोवर्धन पूजा गुरुवार 8 नवंबर 2018

यम द्वितीय या भाई दूज शुक्रवार 9 नवंबर 2018



दीपावली का त्यौहार मनाने का ऐतिहासिक और हिंदू पौराणिक कारण




दीपावली मनाने के कारण




1.रावण वध और श्रीराम का आगमन



श्री राम के 14 वर्ष के वनवास से अयोध्या लौटने की खुशी में 
यह कहानी सभी भारतीय लोगो को पता है कि हम श्री राम जी के 14 वर्ष के वनवास से लौटने की खुशी में दिवाली मनाते हैं। मंथरा के गलत कपटी विचारों से पीड़ित हो कर भरत की माता कैकई ने  श्री राम को उनके पिता राजा दशरथ से वनवास भेजने के लिए वचनवद्ध कर देती हैं। इस लिए श्रीराम अपने पिता के आदेश का सम्मान करते हुए माता सीता और भाई लक्ष्मण के साथ 14 वर्ष के वनवास के लिए चले जाते हैं। और वहीं वन में रावण अपना संकल्प पूरा करने के लिए माता सीता का छल से अपहरण कर लेता है।

हिंदू धर्म के महाकाव्य रामायण के अनुसार जब लंका में राम और रावण का युद्ध हुआ था तब उसमें श्री राम ने रावण का वध करके रावण और लंका पर विजय प्राप्त कर लिया था, और अपनी पत्नी माता सीता और भाई लक्ष्मण के साथ 14 वर्ष का वनवास पूरा करके अयोध्या लौटे थे , 

श्री राम और माता सीता और लक्ष्मण के वापस अयोध्या आने की ख़ुशी में अयोध्या वासियों ने अपने घरों में सजावट की थी और साथ ही मिट्टी के दीपक जलाकर खुशियां मनाई थी । हिंदू धर्म के लोग उसी दिन को याद करते हुए आज भी दीवाली के रूप में उस खुशि को मनाते हैं ।




2.सिक्खों के छः वे गुरु को मिली थी, आजादी



मुगल बादशाह जहांगीर ने सिखों के 6वें गुरु गोविंद सिंह सहित 52 राजाओं को ग्वालियर के किले में बंदी बना कर रख्खा था। गुरू गोविन्द सिंह को कैद करने के बाद जहांगीर मानसिक रूप से परेशान रहने लगा। जहांगीर को स्वप्न में गुरु गोविन्द जी को कैद से आजाद करने के लिए किसी फकीर से आदेश मिलाता था।

 जब गुरु गोविन्द जी को कैद से आजाद किया जा रहा था तो वे अपने साथ कैद हुए सभी राजाओं को भी आजाद करने की मांग करने लगे। गुरू हरगोविंद सिंह के कहने पर जहांगीर ने सभी राजाओं को भी कैद से आजाद कर दिया था । इसी कारण इस त्यौहार को सिख समुदाय या धर्म के लोग भी मनाते हैं।




3.भगवान विष्णु द्वारा लक्ष्मी जी को बचाना



हिंदू धर्म के पौराणिक कथाओं के अनुसार एक महान राक्षस दानव था जिसे राजा बलि या बाली भी कहा जाता है। उसने तीनों लोको को अपने अधिकार में कर लिया था और उनका राजा बन बैठा था।  भगवान विष्णु से उसे कई प्रकार की शक्तियां प्राप्त थी, जिसके चलते उसने तीनों लोक को अपने वश में कर लिया था या स्वामी बन गया था ।पूरे विश्व में गरीबी छा गई थी क्योंकि राजा  बाली  ने सारी संपत्ति को अपने अधिकार में ले लिया था स्वामी बन गया था ।

क्योंकि उसने माता लक्ष्मी से वरदान ले कर अपने अधिकार में ले रखा था । पूरे ब्रह्मांड को बाली से बचाने के लिए,   भगवान विष्णु ने अपने वामन अवतार यानी पांचवी अवतार को लेकर तीनो लोको बाली से दान में लेकर उसके अधिकार से मुक्त कराये थे और देवी लक्ष्मी को उसके कैद से मुक्त कराये थे । तब से यह दिन बुराइयों पर भगवान विष्णु की जीत के रूप में और देवी मां लक्ष्मी की आजादी के रूप में दीवाली के अवसर पर बड़े ही ख़ुशी के साथ मनाया जाता है ।


4.नरकासुर का संहार


नरकासुर का इसी दिन भगवान श्री कृष्ण ने संहार किया था। नरकासुर उस समय प्रागज्योतिषपुर (जो की आज दक्षिण नेपाल एक प्रान्त है) का राजा था। नरकासुर इतना क्रूर और दुष्ट था की उसने देवमाता अदिति के शानदार कान की बालियों तक को छीन लिया। श्री कृष्ण की मदद से सत्यभामा ने नरकासुर का वध किया और सभी 16 देवो की देवी कन्याओं को उसके कैद से आजाद करवाया था।


 5.माता लक्ष्मी का सृष्टि में अवतार 



हिंदुओं की मान्यताओ के अनुसार देवी माता लक्ष्मी को धन-शुख-समृद्धि का प्रतीक माना जाता है और इसी कारण सभी हिन्दू धर्म के लोग धन प्राप्ति के लिए माता लक्ष्मी का व्रत करते हैं,और उनकी पूजा करते हैं ।   आपको पता होगा, कि हिंदू कथाओं के अनुसार राक्षस और देवताओं ने मिल कर समुद्र मंथन किया था या क्षिर सागर का मंथन किया था और उसी मंथन में देवी लक्ष्मी प्रगट हुई थी । 

अमावस्या के दिन जो कार्तिक महीना था। उसी दिन देवी लक्ष्मी ब्रह्मांड में प्रगट या अवतरित हुई थी और इसी लिए इस दिन को माता देवी लक्ष्मी के जन्मदिन के उपलक्ष में भी दीपावली के त्यौहार के रूप में मनाया जाने लगा ।


6. राजा विक्रमादित्य का हुआ था राज्याभिषेक


यह भी पढ़े : असली और नकली सोने में अंतर कैसे करे

राजा विक्रमादित्य एक महान और धर्मवीर हिंदू राजा थे। और इसी दिन राजा विक्रमादित्य का राज्यभिषेक किया गया था और विक्रमादित्य के राज्याभिषेक के दिन को दीवाली के रूप में उनके चाहने वालों ने मनाना शुरू कर दिया ।
महान राजा विक्रमादित्य प्राचीन भारत के एक महान और धर्मवीर सम्राट थे। उन्हें उनके उदारता, साहस तथा विद्वानों के संरक्षणों के कारण हमेशा जाना जाता है इसी कार्तिक अमावस्या के दिन उनका राज्याभिषेक किया गया था। राजा विक्रमादित्य मुगलों को धूल चटाने वाले भारत के अंतिम हिंदू सम्राट थे।


7.पांडवों की राज्य वापसी



आप सभी ने महाभारत की कहानी तो सुनी ही होगी। कौरवों ने, शकुनी मामा के चाल की मदद से शतरंज के खेल में पांडवों का सब कुछ छीन लिया था। यहां तक की उन्हें राज्य छोड़ कर 13 वर्ष के लिए वनवास भी जाना पड़ा।  और   लंबे समय बाद यानी 13 वर्ष के बाद पांडव जब अपने राज्य कार्तिक अमावस के इसी महीने में वापस लौटे तो इसी कार्तिक अमावस्या के रात यानि दीवाली के दिन उनके चाहने वालो ने खूब खुशिया मनाई । पांडवो के चाहने वालो ने अपने घरों में मिट्टी के दीपक जलाकर  पटाखे फोड़ पांडवों के वापस लौटने की खुशियां मनाई  दीपावली के रूप में ।



8.मारवाड़ी का नया साल



हिंदू कैलेंडर के अनुसार आश्विन कृष्ण पक्ष के अंतिम दिन  इस हिंदू त्योहार दीपावली पर मारवणी लोग अपने नए साल का जश्न भी मनाते हैं  ।


9.जैनियों के लिए विशेष दिन



महावीर जिनके द्वारा आधुनिक जैन धर्म की स्थापना की गयी थी
। उन्होंने इस विशेष दीपावली के दिन पर अपने निर्वाण की प्राप्ति की थे, और इसी कारण जैनियों द्वारा यह दिन दीपावली के रूप में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है ।



दीवाली कब मनाई जाती है?,Diwali-kyu-Manaya-jata-hai



हिंदू कैलेंडर के अनुसार अश्विन के महीने में कृष्ण पक्ष की के 13 वें दिन  दीपावली के त्यौहार के रूप में मनाया जाता है । यह परंपरागत रूप से हर वर्ष के मध्य अक्टूबर या मध्य नवंबर में दशहरे के 18 दिन बाद खुशियों के साथ मनाया जाता है ।  यह हिंदुओं का मुख्य त्योहार माना जाता है।
पूरे भारत में यह 5 दिनों का त्योहार है । धनतेरस से लेकर भाई दूज तक का , लेकिन कुछ स्थानों जैसे कि महाराष्ट्र में यह 6 दिन तक मनाया जाता है। यह अपने परिवार के साथ मनाया जाता है और इसी दिन राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया जाता है ताकि लोग अच्छे से दीवाली के त्यौहार को मना सके और आनंद ले सकें ।

तो अब आप सब लोगों को पता चल गया होगा कि दीपावली ,क्यों मनाया जाता है ?कब मनाया जाता है ? दीवाली क्या है ?दीवाली के बारे में आपको पूरी जानकारी मिल गई होगी !


अगर आपको यह हमारा आर्टिकल पसंद आया हो तो नीचे जो भी शेयर बटन आपको दिखाई दे रहा है उन पर क्लिक करके ज्यादा से ज्यादा इस आर्टिकल को शेयर करें  । ताकि दीवाली के बारे में और भी लोगों तक यह पूरी जानकारी पहुच सके ।


दिवाली एक धार्मिक त्योहार है जो अंधकार पर प्रकाश का विजय या फिर पाप या अधर्म पर धर्म की विजय के रूप में मनाया जाता है।  इस दिन सभी लोग बहुत सारे दीपक जलाकर पुरे संसार में उजाला फैलाने की कोशिश करते है !

दिवाली 2018 -दिवाली क्यों मनाई जाती है,दीवाली कैसे, क्यों और कब मनाई जाती है।

अगर आप इसी तरह की जानकारिया पाना चाहते है तो आप हमारे blog/website को सब्सक्राइब भी कर सकते है जिससे आप तक इस तरह की जानकारिया पहुचती रहेंगी सब्सक्राइब करने के लिए नीचे जाये और आप हमारे फेसबुक पेज को भी follow कर सकते है ।